Sheetal Devi: जम्मू की शीतल देवी बनीं 'अर्जुन', मिलेगा डुग्गर दा मान सम्मान

Sheetal Devi Nominated for Arjuna Award: शीतल के दोनों हाथ नहीं है मगर वो दिव्यांग होने के बावजूद विश्व स्तर पर शीतल ने  सिर्फ छाती के सहारे दांतों और पैरों से तीरंदाज़ी में 2 गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा है. 

Sheetal Devi: जम्मू की शीतल देवी बनीं 'अर्जुन',  मिलेगा डुग्गर दा मान सम्मान

 Arjuna Award 2023: जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ा की रहने वाली शीतल देवी को अर्जुन अवॉर्ड से नवाज़ा जाएगा. शीतल भारतीय पैरा-तीरंदाज़ हैं जिन्होंने विश्व स्तर पर मुल्क का नाम रौशन किया है. 16 साल की शीतल ने चीन के हांगझाऊ में हुए एशियाई पैरा गेम्स में 2 गोल्ड मेडल सहित 3 दूसरे मेडल जीतकर एक नई मिसाल पेश की है.  उन्हें गेम्स के प्रतिष्ठित अर्जुन अवॉर्ड सम्मानित किया जाएगा. 

जो लोग नहीं जानते उन्हें हम बता दें कि शीतल के दोनों हाथ नहीं है मगर वो दिव्यांग होने के बावजूद विश्व स्तर पर शीतल ने  सिर्फ छाती के सहारे दांतों और पैरों से तीरंदाज़ी में 2 गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा है. 

शीतल का जन्म किश्तवाड़ा के एक छोटे गांव लोई धार में एक गरीब परिवार में हुआ. उनके पिता किसानी करते हैं और मां बकरियां संभालती हैं. बचपन से ही शीतल का जीवन चुनौतियों से भरा रहा  लेकिन उन्होंने अपनी दिव्यांगता को अभिशाप नही बनने दिया और सिर्फ 2 साल की कड़ी मेहनत के बाद एक मिसाल कायम की. 
 
खेल मंत्रालय ने शीतल को अर्जुन अवॉर्ड देने की अनाउंसमेंट की है. ये अवॉर्ड उन्हें 9 जनवरी को मिलेगा. राष्ट्रपति भवन में एक विशेष समारोह में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु उन्हें इस सम्मान से नवाज़ेंगी. 

शीतल का कहना है कि  अर्जुन अवॉर्ड मिलने की खुशी को शब्दों में बयान नही कर सकती हैं. उन्होंने आगे  कहा, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से मिला आशीर्वाद उन्हें ज़िंदगी में आगे बढ़ने के लिए हमेशा इंस्पायर करेगा.

Latest news

Powered by Tomorrow.io