J&K Tourism: क्रिसमस पर बढ़ी कश्मीर आने वाले टूरिस्ट की तादाद, घाटी में है रौनक...

Christmas in J&K: नए साल के मौके पर सैयाहों को आकर्षित करने के लिए भदरवा डेवलपमेंट अथॉरिटी और डोडा जिला इन्तेजामिया. वहीं, टूरिज्म डिपार्टमेंट के तआवुन से वाइब्रेंट भदरवा फेस्टिवल मना रहा है. 27 से 31 दिसंबर तक चलने वाले इस फेस्टिवल के पेशनजर भदरवा के सभी गेस्ट हाउस और होटल काफी पहले ही बुक हो चुके हैं ..

J&K Tourism: क्रिसमस पर बढ़ी कश्मीर आने वाले टूरिस्ट की तादाद, घाटी में है रौनक...

Jammu and Kashmir: कश्मीर के साथ साथ क्रिसमस और नए साल के मौके पर भदरवा में भी सैयाहों की आमद बढ़ गई है. बता दें कि ऊंचे पहाड़ो के दामन में बसा भदरवा का हरा भरा इलाका चिनाब रीजन का सबसे खूबसूरत हिस्सा माना जाता है. टूरिज्म डिपार्टमेंट और जिला इन्तेजामिया की कोशिशों से भदरवा. इस वक्त अहम टूरिस्ट डेस्टिनेशन के तौर पर उभर रहा है. 

नए साल के मौके पर सैयाहों को आकर्षित करने के लिए भदरवा डेवलपमेंट अथॉरिटी और डोडा जिला इन्तेजामिया. वहीं, टूरिज्म डिपार्टमेंट के तआवुन से वाइब्रेंट भदरवा फेस्टिवल मना रहा है. 27 से 31 दिसंबर तक चलने वाले इस फेस्टिवल के पेशनजर भदरवा के सभी गेस्ट हाउस और होटल काफी पहले ही बुक हो चुके हैं. 

इसके अलावा, भदरवा से 25 किलोमीटर दूरी पर वाके गुलडंडा का इलाका सैयाहों की दिलचस्पी का सबसे बड़ा सेंटर है .. मकामी इन्तेजामिया के मुताबिक अक्तूबर में पहली बर्फबारी के बाद भदरवा में रिकॉर्ड तादाद में सैयाहों की आमद हुई है. भदरवा डेवलपमेंट अथॉरिटी के सीईओ बाल कृष्ण के मुताबिक पिछले दस दिनों में चालीस से पचास हजार सैयाह गुलडंडा आ चुके हैं. सैयाहों का कहना है कि गुलमर्ग , सोनमर्ग और पहलगाम की तरह भदरवा भी काफी खूबसूरत जगह है. 

कश्मीर के साथ साथ क्रिसमस और नए साल के मौके पर भदरवा में भी सैयाहों की आमद बढ़ गई है. बता दें कि ऊंचे पहाड़ो के दामन में बसा भदरवा का हरा भरा इलाका चिनाब रीजन का सबसे खूबसूरत हिस्सा माना जाता है. टूरिज्म डिपार्टमेंट और जिला इन्तेजामिया की कोशिशों से भदरवा. इस वक्त अहम टूरिस्ट डेस्टिनेशन के तौर पर उभर रहा है. 

नए साल के मौके पर सैयाहों को आकर्षित करने के लिए भदरवा डेवलपमेंट अथॉरिटी और डोडा जिला इन्तेजामिया. वहीं, टूरिज्म डिपार्टमेंट के तआवुन से वाइब्रेंट भदरवा फेस्टिवल मना रहा है. 27 से 31 दिसंबर तक चलने वाले इस फेस्टिवल के पेशनजर भदरवा के सभी गेस्ट हाउस और होटल काफी पहले ही बुक हो चुके हैं. 

इसके अलावा, भदरवा से 25 किलोमीटर दूरी पर वाके गुलडंडा का इलाका सैयाहों की दिलचस्पी का सबसे बड़ा सेंटर है .. मकामी इन्तेजामिया के मुताबिक अक्तूबर में पहली बर्फबारी के बाद भदरवा में रिकॉर्ड तादाद में सैयाहों की आमद हुई है. भदरवा डेवलपमेंट अथॉरिटी के सीईओ बाल कृष्ण के मुताबिक पिछले दस दिनों में चालीस से पचास हजार सैयाह गुलडंडा आ चुके हैं. सैयाहों का कहना है कि गुलमर्ग , सोनमर्ग और पहलगाम की तरह भदरवा भी काफी खूबसूरत जगह है. 

Latest news

Powered by Tomorrow.io