लज़ीज़ पकवान खाने यहां दुनिया भर से आते हैं लोग

कश्मीर अपनी ख़ूबसूरती के लिए तो दुनिया भर में मशहूर है ही, पर ये अपने अलग-अलग प्रकार के खाने के लिए भी उतना हे मशहूर है| कश्मीरी दम आलू, चावल के आटे की रोटी, तबाक माज़, रोगन जोश और अन्य कई प्रकार के लज़ीज़ खाने के लिए यह जाना जाता है| कश्मीर टूरिस्ट के लिए हर तरह से एक बेहद शानदार जगह है| बहते झरने, हसीं वादियां और जायकेदार खाना|

लज़ीज़ पकवान खाने यहां दुनिया भर से आते हैं लोग

कश्मीर की खूबसूरती को देखते हुए उसे ज़मीन की जन्नत कहा जाता है तो ज़ाहिर है कि यहां का खाना भी कोई आम नहीं होगा. दुनियाभर से कश्मीर घूमने आए टूरिस्ट को हसीन नज़ारे के साथ-साथ कश्मीरी खाना अपने ज़ायके से भी सबका दिल जीत लेता है. इस आर्टिकल में हम आपको कश्मीर के कुछ मशहूर खाने के बारे में बताएंगे ताकि जब कभी आप कश्मीर घूमने जाएं तो इसे एक बार ज़रूर ट्राई करना चाहेंगे.


कश्मीरी दम आलू
कश्मीरी दम आलू कश्मीर की एक आम डिश है. जो काफी सस्ती और बहुत टेस्टी होती है. इसमें उबले हुए आलुओं के साथ दही, खुशबूदार सौंफ और अदरक पाउडर के साथ तैयार किया जाता है. यह काफी जल्दी बन जाने वाला फूड है.


चावल के आटे की रोटी
पुराने ज़माने में चावल के आटे की रोटी को बड़े चाव से खाया जाता था लेकिन गेहूं के आटे के आने से धीरे-धीरे इसका चलन खत्म हो गया. कश्मीर में अभी भी चावल के आटे की रोटी बनाने का चलन है. कश्मीरी आज भी इसे शाम में चाय के साथ स्नैक्स के तौर पर खाया जाता है. 


तबाक माज़
यह एक नॉनवेज डिश है. जो मटन के छोटे-छोटे चॉप्स करके उसे डीप फ्राई करके बनाया जाता है. कश्मीरी तबाक माज़ अमेरिका और ब्रिटेन में बनाए जाने वाले मटन चॉप्स की तरह है. कश्मीरी तबाक माज़ मिर्च पाउडर और नमक में फ्राइड होकर काफी लज़ीज़ बन जाता है.


रोगन जोश
कश्मीरी पकवान रोगन जोश भी एक नॉनवेज डिश है. जिसमें भेड़ के बच्चे के गोश्त को कश्मीरी लाल मिर्च, अदकर पाउडर, हींग, दही और बाकी मसालों के साथ पकाया जाता है. जो खाने में हींग की खुशबू के साथ बेहद लज़ीज़ होता है.

यखनी
यखनी भी मटन गोश्त का ही एक पकवान है. यखनी को हल्दी और मिर्च के बिना सिर्फ दही की ग्रेवी के साथ बनाया जाता है. यखनी में खड़े गर्म मसालों का ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है. जिससे यह पकवान लौंग और इलायची की महक से बेहद खुशबूदार होता है. यखनी काफी पतला पानीदार ग्रेवी वाला होता है इसलिए अक्सर इसे चावल के साथ खाया जाता है. 

बखारखानीब
बखारखानीब के कई नाम हैं जैसे खारखानी, बाख़रखानी या बाकर ख़ानी रोटी. यह एक तरह की रोटी होती है जो दिखने में आम रोटियों के मुकाबले थोड़ी मोटी होती है. जिसे कई मसालों के साथ मिलाकर बनाया जाता है. कश्मीर घूमने आए टूरिस्ट भी इसे कई तरह के नाम देकर जाते हैं जैसे मसाले वाली रोटी और चटपटी रोटी भी कहते हैं.

वाज़वान
वाज़वान 36 डिशेज़ की मल्टीपल-कोर्स मील है. इसमें वेज और नॉन-वेज दोनों डिशेज़ होती हैं. इसे कश्मीरी शादियों में सर्व किया जाता है. कश्मीर की शादि इस पकवान के बिना अधूरी मानी जाती है. यह पकवान सिर्फ काना ही नहीं बल्कि कश्मीर का कल्चर और पहचान है.


रिस्ता
रिस्ता वाज़वान की 36 डिशेज़ में से एक डिश है. जो कि नॉनवेज है और यह खाने में बहुत लज़ीज़ होती है. इस डिश को कश्मीर के सभी जश्न पर पकाया जाता है. रिस्ता एक बोनलेस यानी बिना हड्डी वाला गोश्त होता है जिसे दही की ग्रेवी के साथ तैयार किया जाता है.

गोश्ताबा
कश्मीर की एक पारंपरिक विनम्रता, गोश्तताबा को सुगंधित दही ग्रेवी तथा मसालों के साथ मटन पकाया जाता है। यह पकवान शाही अवसरों पर तैयार है तथा यह वास्तव में एक शाही स्वाद है। 

हर्बल चाय
भिक्षुओं तथा मठों की भूमि, लद्दाख आपको ताजा हरी चाय की पत्तियों, नमक तथा मक्खन का उपयोग करने के लिए सबसे अच्छा हर्बल चाय तैयार करता है। पूर्ण विश्वास तथा प्रार्थना के साथ भिक्षुओं द्वारा सेवा की, हर्बल चाय लोगों को ठंडा ठंड सहन करने में मदद करता है। 

कश्मीरी खानपान बहुत अलग है. हम ऐसे ज्यादातर पर्यटकों को वहां का खाना बहुत पसंद आता है. कुछ लोग इसकी आलोचना महंगे होने के कारण करते हैं.

Latest news

Powered by Tomorrow.io