Jammu News : राजौरी के सरकारी मेडिकल कॉलेज से 9 छात्र सस्पेंड; रैंगिंग मामले में कार्रवाई

GMC Rajouri : रैगिंग मामले में जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले के सरकारी मेडिकल कॉलेज (GMC) के 9 छात्रों को एक महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि एमबीबीएस के ये 9 छात्र काफी दिनों से जूनियर छात्रों की रैंगिग ले रहे थे.

Jammu News : राजौरी के सरकारी मेडिकल कॉलेज से 9 छात्र सस्पेंड; रैंगिंग मामले में कार्रवाई

जम्मू कश्मीर : रैगिंग मामले में जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले के सरकारी मेडिकल कॉलेज (GMC) के 9 छात्रों को एक महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि एमबीबीएस के ये 9 छात्र काफी दिनों से जूनियर छात्रों की रैंगिग ले रहे थे. इसको लेकर कुछ छात्रों ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन के समक्ष अपनी शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद कॉलेज प्रशासन ने एंटी-रैगिंग सेल द्वारा जांच की और फिर मामला सही पाए जाने के बाद 9 एमबीबीएस छात्रों को महीने के लिए सस्पेंड कर दिया. 

बताया जा रहा है कि सस्पेंड किए गए छात्रों में प्रथम वर्ष बैच के साथ-साथ दूसरे और चौथे वर्ष के छात्र भी शामिल हैं. 

जीएमसी मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन डिपार्टमेंट के चीफ डॉ. जमील हुसैन खान ने बताया कि, मामले की गहन जांच की गई और पूरी 
घटना की जांच हुई. उन्होंने कहा कि, 'हमने अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी जिसके बाद कार्रवाई की गई है.'

उन्होंने बताया कि, जूनियर बैच के 2 छात्रों को 2 सप्ताह की अवधि के लिए कक्षा कार्य से निलंबित कर दिया गया है, जबकि सीनियर बैच के 7 छात्रों को 4 सप्ताह के लिए  निलंबित किया गया है. 

डॉ जमील ने आगे कहा कि सभी छात्रों को निश्चित समय अवधि के लिए हॉस्टल से भी निष्कासित करा गया है. 

उधर, जीएमसी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. अमरजीत भाटिया ने कहा है कि,  कॉलेज परिसर में किसी भी व्यक्ति द्वारा अनुशासनहीनता की कोई भी बात बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा कि, 'हमने मेडिकल कॉलेज को छात्र मैत्रीपूर्ण माहौल में रखा है, लेकिन अनुशासनहीनता के किसी भी कृत्य को कभी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है.'

डॉ. भाटिया ने कहा कि छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की गई है और भविष्य में ऐसी किसी भी कार्रवाई पर निर्धारित मानदंडों के अनुसार कार्रवाई होती रहेगी. साथ ही उन्होंने सभी छात्रों के अभिभावकों से अपील की है कि वो अपने बच्चों का उचित मार्गदर्शन करें और उनकी शैक्षणिक और पाठ्येतर गतिविधियों में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करें. 

Latest news

Powered by Tomorrow.io