Budgam: बडगाम का हैंडीक्रॉफ्ट डिपार्टमेंट की मदद से ट्रेनिंग ले रहीं लड़कियां...

Stiching Training Centre: बडगाम के ज़री सेंटर्स में ट्रेनिंग ले रही हैं लड़कियां. पढ़ाई के साथ ट्रेनिंग करती हैं. लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाना है मुहीम का मक़सद. ट्रेनिंग पूरी करने के बाद अपना कारोबार शुरू कर सकती हैं लड़कियां. महिलाओं को लोन दिलाने में हैंडीक्रॉफ्ट डिपार्टमेंट कर रहा है मदद.

Budgam: बडगाम का हैंडीक्रॉफ्ट डिपार्टमेंट की मदद से ट्रेनिंग ले रहीं लड़कियां...

Jammu and Kashmir: जम्मू कश्मीर के बडगाम में पढ़ी लिखी लड़कियों और घरेलू महिलओं को घर बैठे रोजगार मिल सके इसको लेकर हैंडीक्रॉफ्ट और हैंडलूम डिपार्टमेंट द्वारा की जा रही कोशिशें बेहद कारगर साबित हो रही हैं. 

दरअसल, स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत बडगाम के हकनीपोरा का ज़री सेंटर भी इसी मुहिम का एक हिस्सा है. इस सेंटर्स में इस वक्त तरीबन 25 लड़कियां और ख्वातीन ट्रेनिंग हासिल कर रही हैं. ट्रेनिंग लेने वाली महिलाओं में कई ऐसी भी हैं जो अपनी पढ़ाई और ट्रेनिंग दोनों साथ साथ कर रही हैं. आपको बता दें कि तीन महीने की कढ़ाई और डिज़ाइनिंग की ट्रेनिंग के बाद इन्हें डिपार्टमेंट की ओर से सर्टिफिकेट दिया जाता है. 

इसके अलावा अपना कारोबार शुरू करने में हैंडीक्रॉफ्ट और हैंडलूम डिपार्टमेंट इन महिलाओं को बैंक से लोन दिलाने में भी मदद करता है. ट्रेनिंग सेंटर खोले जाने पर लड़कियों ने जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा और जिला इन्तेजामिया का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि इस ट्रेनिंग कोर्स से न वो सिर्फ खुद के लिए बल्कि दूसरों के लिए भी रोजगार का मौके दे सकेंगी.

जम्मू कश्मीर के बडगाम में पढ़ी लिखी लड़कियों और घरेलू महिलओं को घर बैठे रोजगार मिल सके इसको लेकर हैंडीक्रॉफ्ट और हैंडलूम डिपार्टमेंट द्वारा की जा रही कोशिशें बेहद कारगर साबित हो रही हैं. 

दरअसल, स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत बडगाम के हकनीपोरा का ज़री सेंटर भी इसी मुहिम का एक हिस्सा है. इस सेंटर्स में इस वक्त तरीबन 25 लड़कियां और ख्वातीन ट्रेनिंग हासिल कर रही हैं. ट्रेनिंग लेने वाली महिलाओं में कई ऐसी भी हैं जो अपनी पढ़ाई और ट्रेनिंग दोनों साथ साथ कर रही हैं. आपको बता दें कि तीन महीने की कढ़ाई और डिज़ाइनिंग की ट्रेनिंग के बाद इन्हें डिपार्टमेंट की ओर से सर्टिफिकेट दिया जाता है. 

इसके अलावा अपना कारोबार शुरू करने में हैंडीक्रॉफ्ट और हैंडलूम डिपार्टमेंट इन महिलाओं को बैंक से लोन दिलाने में भी मदद करता है. ट्रेनिंग सेंटर खोले जाने पर लड़कियों ने जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा और जिला इन्तेजामिया का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि इस ट्रेनिंग कोर्स से न वो सिर्फ खुद के लिए बल्कि दूसरों के लिए भी रोजगार का मौके दे सकेंगी.

Latest news

Powered by Tomorrow.io