Contractors Protest in Shopian: RDD के ठेकेदारों को दो साल से नहीं मिला वर्क मटीरियल का पैसा, किया प्रदर्शन...

Rural Development Department: शोपियां में ठेकेदारों का RDD के खिलाफ़ एहतेजाज. काम पूरा होने के बाद भी पैसा न मिलने से है ठेकेदारों में नाराज़गी. ठेकेदारों ने पैसा टाइम से दिए जाने की कि मांग. ठेकेदारों से सौतेला सलूक करने का इल्ज़ाम.

Contractors Protest in Shopian: RDD के ठेकेदारों को दो साल से नहीं मिला वर्क मटीरियल का पैसा, किया प्रदर्शन...

Jammu and kashmir: जम्मू-कश्मीर के शोपियां में वर्क मटीरियल की रकम मुहैया न किए जाने को लेकर शोपियां में Rural Development Department के कॉन्ट्रैक्टर्स ने महकमे के खिलाफ प्रदर्शन किया. शुक्रवार सुबह शोपियां के चित्रगाम में ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिस के बाहर प्रदर्शन करते हुए इन कॉन्ट्रैक्टर्स ने शिकायत की, काम पूरा होने के बाद भी सरकार द्वारा उनके वर्क मटीरियल की रक़म जारी नहीं की गई है.

सौतेला सलूक करता है RDD

बता दें कि रूरल डेवलपमेंट डिपार्टमेंट के इन ठेकेदारों ने इल्ज़ाम लगाया कि डिपार्टमेंट, चित्रगाम ब्लॉक के ठेकेदारों के साथ सौतेला सलूक करता है. जिससे दर्जनों ठेकेदारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. 

ऐसे में इन ठेकेदारों की मांग है कि उनका पैसा टाइम पर दिया जाए, ताकि वे डेवलपमेंट के काम को बिना किसी रुकावट के जारी रख सकें.

वहीं, यहां प्रदर्शन कर रहे ठेकेदार इम्तियाज़ पैरी का कहना है कि वे साल 2021 से रूरल डेवलपमेंट डिपार्टमेंट के लिए लगातार काम कर रहे हैं. लेकिन डिपार्टमेंट की ओर से उन्हें इन दो सालों में उनके वर्क मटीरियल का पैसा अभी तक नहीं दिया गया है. जिसके वजह से उन्हें आए दिन नई-नई परेशानियों को सामना करना पड़ता है. उनकी शिकायत है कि "उन्हें अपने निजी कामों को करने के लिए बहुत बार दूसरों से कर्ज लेना पड़ा है. जिसे चुकाने के लिए उनकी जमीन तक बिक गई. हालात ये हैं कि उनके पास खुदकुशी के अलावा कोई चारा नहीं बचा है. वे आत्महत्या करने के लिए मजबूर हैं."

इसके अलावा यहां मौजूद एक नौजवान ठेकेदार की भी यही शिकायत है कि प्रशासन उनके वर्क मटीरियल का रकम अदा नहीं कर रहा है. उन्होंने बताया कि वे एक पढ़े लिखे नौजवान हैं. उन्होंने एमबीए की डिग्री हांसिल की है. जिसके बाद वे अपने इलाके में उद्यम करना चाहते थे. नौकरी की कमी के चलते ठेकेदारी चुनने वाले रईश अहम की शिकायत है कि प्रशासन दूसरे ठेकेदारों को वक्त पर रकम अदा कर रहा है. वहीं, नए और पढ़े लिखे ठेकेदारों के पैसों को दो साल से टाला जा रहा है. 

आपको बता दें कि ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिस के बाहर प्रदर्शन कर रहे इन ठेकेदारों ने कहा कि प्रशासन या डिपार्टमेंट हमारी रकम को जल्द से जल्द अदा करे. वरना वे आने वाले वक्त में इसी तरह के प्रदर्शन करते रहेंगे...  

Latest news

Powered by Tomorrow.io