Divisional Commissioner Kashmir: संभागीय आयुक्त कश्मीर ने बर्फबारी के बीच किया कश्मीर का दौरा

संभागीय आयुक्त कश्मीर ने बर्फबारी के बीच में बिजली परिदृश्य की समीक्षा की. आयुक्त ने बेमिना पावर कंट्रोल रूम, श्रीनगर का दौरा किया किया

Divisional Commissioner Kashmir: संभागीय आयुक्त कश्मीर ने  बर्फबारी के बीच किया कश्मीर का दौरा

मंडलायुक्त कश्मीर, विजय कुमार बिधूड़ी ने पूरे कश्मीर मंडल में भारी बर्फबारी के दौरान बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कश्मीर पावर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कार्य प्रदर्शन की सराहना की. उन्होंने आवश्यक वस्तुओं की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए ये दौरा किया .  दरअसल संभागीय आयुक्त, राशन, पानी, बिजली और चिकित्सा देखभाल के अलावा, वाहनों की सुचारू आवाजाही, समय पर सड़क निकासी आदि की जांच करने निकले थे.

हुकिंग के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के भी निर्देश
मंडलायुक्त ने केपीडीसीएल अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि माननीय उपराज्यपाल के निर्देशों के अनुसार क्षतिग्रस्त डीटी को समय सीमा के भीतर बदल दिया जाए और आम जनता को किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े.
उन्होंने भारी बर्फबारी की स्थिति में किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए आदमी और सामग्री तैयार रखने के अलावा हुकिंग के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए.

ग्रिड स्टेशन बेमिना का भी किया दौरा
एमडी, केपीडीसीएल, मुसरत इस्लाम और सीई (जिला) ने पूरे कश्मीर डिवीजन में मध्यम से भारी बर्फबारी के बीच बिजली आपूर्ति की स्थिति की निगरानी के लिए नियंत्रण कक्ष, ग्रिड स्टेशन बेमिना का भी दौरा किया. उन्होंने कहा कि 11 केवी के 1118 फीडरों में से अब तक केवल 13 ही बंद हैं. इसके अलावा सभी 120 33kV लाइनें चालू हैं और चल रही हैं.

शहरी क्षेत्रों में 48 घंटों के भीतर लग रहे डीडीटी 
मुसरत उल इस्लाम ने कहा कि अतिरिक्त 200 मेगावाट बिजली के बाद से कोई कटौती नहीं हुई है और वे 22 फीडरों को चौबीसों घंटे बिजली की आपूर्ति प्रदान कर रहे हैं, जहां स्मार्ट मीटरिंग और केबलिंग दोनों की गई है, और इसके अलावा वे इस सुविधा को 8 से 10 तक बढ़ा रहे हैं.
उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त वितरण ट्रांसफार्मर (डीडीटी) के प्रतिस्थापन के मामले में भी हम तेज़ी ला रहे हैं.  अधिकारी ने बताया कि शहरी क्षेत्रों में वे 48 घंटों के भीतर डीडीटी लगा रहे हैं, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह प्रक्रिया 1-2 दिनों के भीतर पूरी हो जाती है.

Latest news

Powered by Tomorrow.io