उधमपुर में जगन्नाथ मंदिर में उमड़ा भक्तों का हुजूम, भव्य मेले का आयोजन

आपको बता दें कि पूरे भारत में भगवान जगन्नाथ को समर्पित दो प्राचीन मंदिर हैं. एक उड़ीसा के पुरी में और दूसरा जम्मू कश्मीर के उधमपुर जिले में. अब क्योंकि जम्मू में ये एकमात्र भगवान जगन्नाथ का मंदिर है ऐसे में यहां ये मंदिर काफी मशहूर है.

उधमपुर में जगन्नाथ मंदिर में उमड़ा भक्तों का हुजूम, भव्य मेले का आयोजन

उधमपुर Jagannath Temple Gole Mela : जम्मू कश्मीर के उधमपुर जिले के गोला मेला स्थित जगन्नाथ मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता लग रहा है. दरअसल हर साल की तरह इस साल भी उधमपुर के प्राचीन भगवान जगन्नाथ मंदिर में एक मेले का आयोजन हुआ है जिसमें काफी संख्या में लोग जुट रहे हैं. 

एक तरफ जहां श्रद्धालुओं ने भगवान जगन्नाथ का आर्शीवाद प्राप्त किया तो वहीं कई संस्थाओं के सहयोग से यहां आए हुए भक्तों के लिए लंगर का आयोजन भी किया गया. 

इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए जिला प्रशासन ने भी कई इंतज़ाम. साथ ही बाकी दूसरी सुविधाएं भी यहां पहुंच रहे लोगों को मुहैया कराई. 

आपको बता दें कि पूरे भारत में भगवान जगन्नाथ को समर्पित दो प्राचीन मंदिर हैं. एक उड़ीसा के पुरी में और दूसरा जम्मू कश्मीर के उधमपुर जिले में. अब क्योंकि जम्मू में ये एकमात्र भगवान जगन्नाथ का मंदिर है ऐसे में यहां ये मंदिर काफी मशहूर है.  हर साल यहां दो बार मेले का आयोजन किया जाता है. जिसे गोल मेला भी कहते हैं. 

इस मंदिर के पीछे बनने की कहानी बड़ी दिलचस्प है. ऐसा कहा जाता है कि जम्मू में रहने वाली एक बुज़ुर्ग महिला हर साल भगवान जगन्नाथ के दर्शन करने उड़ीसा के पुरी जाती थी मगर एक बार खराब सेहत की वजह से वो वहां नही जा सकी. कहा जाता है कि इसके बाद ही उसने यहां गोबर, सांप की बर्मी की मिट्टी और बांस से भगवान जगन्नाथ की मूर्ति बनाई.  तभी से इश मंदिर का महत्व जगन्नाथ पुरी जैसा ही है.

Latest news

Powered by Tomorrow.io