Indian Army: कुपवाड़ा के नौजवान सीख रहे 'फिल्म मेकिंग', आर्मी ने की मदद...

Smartphone Film Making Course: कुपवाड़ा में पांच रोज़ा 'स्मार्टफोन फिल्म मेकिंग कोर्स'. नौजवानों को दी गई फिल्म मेकिंग की ट्रेनिंग. फिल्म शूट करने के तरीकों के बारे में बताया गया. नौजवानों ने किया आर्मी का शुक्रिया अदा.

Indian Army: कुपवाड़ा के नौजवान सीख रहे 'फिल्म मेकिंग', आर्मी ने की मदद...

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िले में इंडियन आर्मी की ओर से एक पांच दिन के 'स्मार्टफोन फिल्म मेकिंग कोर्स' (Smartphone Film Making Course) का आयोजन किया गया. जिसका मक़सद जम्मू कश्मीर के नौजवानों में क्रिएटिविटी और स्किल डेवेलपमेंट को बढ़ावा देना था. 

आपको बता दें कि आर्मी द्वारा आयोजित ये फिल्म मेकिन कोर्स FTII (Pune) के साथ मिलकर कराया जा रहा है. भारतीय फिल्म और टेलीविजन इंस्टिट्यूट, पूणे (FTII, Pune) के साथ मिलकर कराए जा रहे इस कोर्स के ज़रिए फिल्म मेकिंग का सपना रखने वाले नौजवानों को अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर फिल्म शूट करने के तरीकों के बारे में बताया गया. 

घाटी के नौजवान के तैयार किए गए इस कोर्स में स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर, फिल्म मेकिंग के अलग-अलग पहलुओं को शामिल किया गया. जिसमें scriptwriting, cinematography, editing, और Post-production techniques भी शामिल हैं... 

इस प्रोग्राम के दौरान FTII के एक्सपीरिएंस्ड पेशेवरों (Experienced Professionals) और सलाहकारों (Consultants) ने नौजवानों को फिल्क मेकिंग की ट्रेनिंग दी. वहीं, इस मौक़े पर कोर्स करने वाले नौजवानों और स्थानीय लोगों ने इंडियन आर्मी की इस पहल का शुक्रिया अदा किया.

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िले में इंडियन आर्मी की ओर से एक पांच दिन के 'स्मार्टफोन फिल्म मेकिंग कोर्स' (Smartphone Film Making Course) का आयोजन किया गया. जिसका मक़सद जम्मू कश्मीर के नौजवानों में क्रिएटिविटी और स्किल डेवेलपमेंट को बढ़ावा देना था. 

आपको बता दें कि आर्मी द्वारा आयोजित ये फिल्म मेकिन कोर्स FTII (Pune) के साथ मिलकर कराया जा रहा है. भारतीय फिल्म और टेलीविजन इंस्टिट्यूट, पूणे (FTII, Pune) के साथ मिलकर कराए जा रहे इस कोर्स के ज़रिए फिल्म मेकिंग का सपना रखने वाले नौजवानों को अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर फिल्म शूट करने के तरीकों के बारे में बताया गया. 

घाटी के नौजवान के तैयार किए गए इस कोर्स में स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर, फिल्म मेकिंग के अलग-अलग पहलुओं को शामिल किया गया. जिसमें scriptwriting, cinematography, editing, और Post-production techniques भी शामिल हैं... 

इस प्रोग्राम के दौरान FTII के एक्सपीरिएंस्ड पेशेवरों (Experienced Professionals) और सलाहकारों (Consultants) ने नौजवानों को फिल्क मेकिंग की ट्रेनिंग दी. वहीं, इस मौक़े पर कोर्स करने वाले नौजवानों और स्थानीय लोगों ने इंडियन आर्मी की इस पहल का शुक्रिया अदा किया.

Latest news

Powered by Tomorrow.io