'इंशाअल्लाह दूसरा पुलवामा भी होगा...' मदरसा के छात्र के पोस्ट से मची खलबली

धमकी देने वाला ये शख्स घाटी या फिर उसके आसपास का रहने वाला है तो हम आपको बताना चाहेंगे कि वो शख्स जम्मू-कश्मीर का नहीं बल्कि यूपी के सहारनपुर के देवबंद के एक मदरसे का छात्र है.

'इंशाअल्लाह दूसरा पुलवामा भी होगा...' मदरसा के छात्र के पोस्ट से मची खलबली

पुलवामा Another Terror Attack : सोशल मीडिया पर पुलवामा की तरह दूसरे आतंकी हमले की धमकी ने हर तरफ खलबली मचा दी है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'X'पर धमकी भरी पोस्ट डाली गई जिसमें लिखा था 'इंशाअल्लाह दूसरा पुलवामा भी होगा...'

इस पोस्ट पर नज़र पड़ते ही पुलिस हरकत फौरन में आई और पुलवामा जैसा हमले क धमकी देने वाले शख्स को तुरंत हिरासत में ले लिया. अब उस शख्स से पूरी पूछताछ कर रही है. 

अगर आपको लग रहा है कि धमकी देने वाला ये शख्स घाटी या फिर उसके आसपास का रहने वाला है तो हम आपको बताना चाहेंगे कि वो शख्स जम्मू-कश्मीर का नहीं बल्कि यूपी के सहारनपुर के देवबंद के एक मदरसे का छात्र है. 

जैसे ही इसने सोशल मीडिया एक्स पर धमकी देते हुए लिखा कि बहुत जल्द दूसरा पुलवामा भी होगा. तो ऐसे में यूपी एटीएस समेत देश की अन्य डिफेंस एजेंसियां तुरंत चौक्कनी हो गई. क्योंकि अभी कुछ दिन पहले ही जम्मू के राजौरी में सेना के जवानों पर घातक अटैक हुआ जिसमें 4 जवान शहीद हो गए. वहां अभी भी टेंशन का माहौल है क्योंकि खुफिया एजेंसियां बता रही है कि राजौरी और पुंछ के घने जंगलों में कई और आतंकी घात लगाकर बैठे हैं. ऐसे में सेना अलर्ट पर है और तलाशी अभियान चला रही है 

जहां तक बात रही इस मदरसे के छात्र की तो जानकारी मिली है कि खानकाह पुलिस चौकी की टीम ने मदरसे के छात्र को गिरफ्तार कर लिया है. इसका नाम मोहम्मद तलहा मजहर है. बताया जा रहा है कि मोहम्मद तलहा झारखंड के जमशेदपुर सरायकेला का रहने वाला है. लेकिन यहां मजहबी तालिम हासिल करने के लिए आया है.. 

इसके अलावा, पुलिस समेत अन्य खुफिया एजेंसियां इस जांच में जुटी हुई हैं कि ये पोस्ट मज़हर के द्वार ही की गई है या फिर फिर इस धमकी भरी पोस्ट में किसी और का हाथ है. महजर के इस तरह के पोस्ट को करने के पीछे का मकसद क्या है इसका भी पता लगा रही है पुलिस. 

पुलिस के मुताबिक पूछताछ के बाद जो भी सच सामने आएगा उसके हिसाब से कार्रवाई होगी और आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी. 

गौरतलब है कि 2019 में फरवरी के महीने में कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे. ये हमला उस वक्त हुआ था जब हाईवे 44 पर सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था. इसके बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए सेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी  पर हवाई हमले कर उनके खुफिया ठिकाने उड़ा दिए.

Latest news

Powered by Tomorrow.io