Jammu and Kashmir:जम्मू-कश्मीर में 50% से अधिक स्कूलों में लाइब्रेरी और खेल के मैदान नहीं

जम्मू और कश्मीर के ज़्यादातर स्कूलों में लाइब्रेरी और खेल के मैदान की सुविधा नहीं हैं, जिससे स्कूल शिक्षा विभाग (एसईडी) के लिए छात्रों को पढ़ने और अन्य खेल गतिविधियों में शामिल करना एक बड़ी चुनौती बन गई है.

Jammu and Kashmir:जम्मू-कश्मीर में 50% से अधिक स्कूलों में लाइब्रेरी और खेल के मैदान नहीं

एक अच्छे स्कूल से इस बात की उम्मीद रखी जाती हैं कि उस स्कूल में बच्चों के लिए बुनियादी सुविधाएं मौजूद होंगी. लेकिन नए यूडीआईएसई आंकड़ों में जम्मू कश्मीर के स्कूल के लिए जो आंकड़े आए हैं वो चिंता जनक है. दरअसल नए यूडीआईएसई के अनुसार, जम्मू और कश्मीर के 50 फीसदी स्कूलों में खेलने के मैदान, लाइब्रेरी और रैंप की सुविधा मौजूद नहीं है.  18,723 स्कूलों में से, लगभग 9925 स्कूल बिना लाइब्रेरी सुविधाओं के हैं, 10,104 स्कूल में रैंप नहीं है और 10,384 स्कूल में खेलने के लिए मैदान नहीं हैं. 

क्या कहना है अधिकारी का
इस मामले पर एक अधिकारी ने कहा कि स्कूलों में जमीन की अनुपलब्धता के कारण सरकारी स्कूलों में खेल के मैदान की सुविधा नहीं है. उन्होंने कहा, "ज्यादातर स्कूल पहाड़ी इलाकों में स्थापित हैं और वहां छात्रों के लिए खेल के मैदान की कोई गुंजाइश नहीं है"

Latest news

Powered by Tomorrow.io