Abhishek Ghosalkar: उद्धव सेना नेता अभिषेक घोसालकर की गोली मारकर हत्या, लाइव रिकॉर्ड हो गई पूरी घटना

Abhishek Ghosalkar shot dead: महाराष्ट्र की राजनीति में एक और अफसोजनक घटना सामने आई , जिसमें शिवसेना के नेता अभिषेक घोसालकर गोली मारकर हत्या कर दी गई.

Abhishek Ghosalkar: उद्धव सेना नेता अभिषेक घोसालकर की गोली मारकर हत्या, लाइव रिकॉर्ड हो गई पूरी घटना

Abhishek Ghosalkar shot dead: महाराष्ट्र की राजनीति में एक और अफसोजनक घटना सामने आई , जिसमें शिवसेना के नेता अभिषेक घोसालकर गोली मारकर हत्या कर दी गई. उन्हें मुंबई के दहिसर इलाके में हुए गोली हमले में घायल होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. यह घटना तब हुई जब एक भाजपा विधायक को महाराष्ट्र की कानून व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाते हुए उल्हासनगर के एक पुलिस स्टेशन के अंदर एकनाथ शिंदे गुट के नेता पर गोली चलाते हुए कैमरे में कैद किया गया था.

आपको बता दें अभिषेक, उद्धव की पार्टी के पुराने नेता विनोद गोशालकर के बेटे थे. वह मुंबई बिल्डिंग रिपेयर्स एंड रिकंस्ट्रक्शन बोर्ड के अध्यक्ष थे. जब वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हो गया तो अभिषेक की पत्नी भी पार्षद रहीं.

घटना के पीछे का असल कारण अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन रिपोर्ट्स के अनुसार, यह घमासान एक निजी विवाद के दौरान हुआ, जिसमें पूर्व नगरसेवक और पूर्व विधायक के बेटे अभिषेक घोसालकर को हमला किया गया. उनके परिवार और समर्थकों को इस दुखद घटना का बहुत दुख है.रिपोर्ट्स के मुताबिक यह भी सामने आया है कि ये हमला किसी मॉरीस नोरोन्हा के ऑफिस में हुआ, जो मॉरीस भाई के नाम से मशहूर हैं, जिनसे अभिषेक की कुछ निजी दुश्मनी थी. हालाँकि, हाल ही में उनका समझौता हो गया और कथित तौर पर अभिषेक को एक कार्यक्रम के लिए मौरिस नोरोन्हा के कार्यालय में आमंत्रित किया गया था. एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, मौरिस भाई ने कथित तौर पर खुद को गोली मारने से पहले घोसालकर को गोली मारी और पूरी घटना को फेसबुक पर लाइवस्ट्रीम किया गया.

राजनीतिक दलों में मचा बवाल 
इस घटना के बाद, राजनीतिक दलों में बवाल मचा गया है. उद्धव सेना के प्रवक्ता आनंद दुबे ने महाराष्ट्र की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के इस्तीफे की मांग की है. उन्होंने कहा कि अगर जन प्रतिनिधि सुरक्षित नहीं हैं, तो जनता का क्या होगा? उन्होंने इस घटना को एक नजर से देखने की मांग की है. इसके अलावा, पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे ने भी महाराष्ट्र में कानून-व्यवस्था की भयावह हालत पर चिंता जताई है. उन्हीने कहा कि सरकार बाहुबलियों को बढ़ावा दे रही है, और इस घटना को एक उदाहरण मानकर सरकार के खिलाफ आवाज उठाई जाए.

Latest news

Powered by Tomorrow.io