दुनिया का सबसे महंगा मसाला केसर; क्यों बिकता है सोने के भाव? जानें कैसे होती है खेती

केसर मसाला, केसर की मिठाई, केसर का इत्र, केसर की दवाई ये तमाम केसर से बनीं चीज़े हर किसी को नहीं मिलती हैं. वजह है इसकि ऊंची क़ीमत. लेकिन ऊंची क़ीमत की भी एक वजह है. आइए जानते है कि सोने के भाव क्यों बिकता है केसर.

दुनिया का सबसे महंगा मसाला केसर; क्यों बिकता है सोने के भाव? जानें कैसे होती है खेती

(Kesar Cultivation): केसर का नाम सुनते ही ज़हन में सबसे पहले उसकी क़ीमत आती है. केसर लाखों रुपये में बिकने वाला मसाला है. ये खाने का ज़ायका तो बढ़ाता ही है साथ ही इसका धार्मिक तौर पर भी काफी इस्तेमाल किया जाता है. केसर का इस्तेमाल दवाई के तौर पर भी किया जाता है. केसर डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए काफी फायदेमंद होता है. सोने के भाव बिकने वाले केसर में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं यानी जिस तरह आपको घर कि तिजोरी का ख्याल रखना पड़ता है ठीक उसी तरह घर के किचन में रखे केसर का भी ख्याल रखना पड़ता है. आइए आपको बताते है की आखिर केसर इतना महंगा क्यो बिकता है?

क्यों है इतना महंगा?
केसर की उगाई से लेकर बाज़ारों में बिकने तक का सफ़र काफी लंबा और मुश्किल भरा होता है. इसी सफ़र में की गई मेहनत ही इसे महंगा बना देती है. दरअसल, केसर की कई हज़ार स्कवायर फीट में खेती करने पर भी इसकी पैदावर कम होती है. एक किलो केसर पाने के लिए काफी लंबी ज़मीन पर खेती करनी पड़ती है. केसर की खेती के लिए रेतीली, चिकनी, बलुई या दोमट मिट्टी चाहिए होती है. इसलिए केसर जम्मू-कश्मीर में ज़्यादा पाया जाता है. जम्मू-कश्मीर में रिवायती तरीके से केसर की खेती की जाती है.बता दें कि केसर एक फूल वाला पौधा है यानी केसर के बीज में कोई पेड़ वगैरह नहीं निकलते है. केसर दरअसल फूलों का स्टिग्मा होता है. हर फूल में करीब 3-4 स्टिग्मा ही होते हैं. इन स्टिग्मा को हाथों से निकालकर सुखाया जाता है और ये प्रक्रिया कश्मीरी लोगों के हाथों से होता है. तब जाकर कश्मीर का शुद्ध केसर हासिल होता है. हर साल करीब ढाई से तीन लाख केसर के फूलों को हाथों से तोड़ा जाता है.

दुनिया का सबसे महंगा मसाला
किचन के तमाम मसालों में से सबसे महंगा मसाला केसर है. ये पूरी दुनिया का सबसे महंगा मसाला है. महंगाई का कारण तो आप जान ही गए होंगे. साथ ही इसके अनेक फायदों ने भी इसे अलग पहचान दी है. केसर को अंग्रज़ी में सेफ्रॉन (Saffron) कहते हैं. 

जम्मू-कश्मीर के अलावा कहां-कहां होती है खेती?
केसर की खेती भारत में हिमाचल प्रदेश (Himachal-Pradesh) और जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में की जाती है. हालांकि केसर की खेती के मुनाफे से आकर्षित होकर अब किसान केसर को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और राजस्थान (Rajasthan) जैसे राज्यों में भी उगा रहे हैं.

किस महीने में होती है केसर की खेती
केसर की खेती के लिए बेस्ट सीज़न के तौर पर जून से सितंबर तक के महीनों को माना जाता है. ताकि केसर का पौधा अक्टूबर में फूल देना शुरू कर दे. केसर के पौधे को सर्दियों में और ज़्यादा ठंडक का ज़रूरत होती है, ठीक वैसे ही गर्मियों में और ज़्यादा गर्मियों की ज़रूरत होती है.

केसर से कमा सकते हैं लाखों रूपये
आप भी केसर की खेती कर महीने में लाखों रूपये कमा सकते है. केसर को ऑनलाइन भी बेच सकते हैं. अगर आप हर महीने दो किलो केसर बेच लेते हैं तो आप 6 लाख रुपये कमा सकते है. अगर आप महीने में एक किलो केसर बेच लेते हैं तो आप 3 लाख रुपये तक का मुनाफा पा सकते है.

Latest news

Powered by Tomorrow.io