हरी परबत : जम्मू और कश्मीर का सबसे बड़ा शहर राजधानी श्रीनगर की एक पहाड़ी

हरि परबत, जिसे कोह-ए-मारन [koːhi maːraːn] भी कहते है  

हरी परबत : जम्मू और कश्मीर का सबसे बड़ा शहर राजधानी श्रीनगर की एक पहाड़ी

हरि परबत, जिसे कोह-ए-मारन [koːhi maːraːn] भी कहते है  
भारत में जम्मू और कश्मीर का सबसे बड़ा शहर राजधानी श्रीनगर की तरफ एक पहाड़ी है.
इस पहाड़ी पर गुरुद्वारे, मंदिर, मस्जिद एक साथ है और दुर्रानी साम्राज्य ने एक किला भी बनवाया है.

दुर्रानी किला :

मुगल सम्राट अकबर ने 1590 में साइट पर पहली किलेबंदी करवाई थी 
1808 में उस वक़्त कश्मीर के गवर्नर अता मोहम्मद खान ने ये किला दुर्रानी साम्राज्य की देख रेख में बनवाया था,
कश्मीर में आधुनिक श्रीनगर शहर के बदले एक नई राजधानी के लिए अपनी योजना के चलते बहार की दीवार बनवाई थी, हाँलाकि, ये कभी पूरी नहीं हुई 

"भारत सरकार ने क़िले पर 15 अगस्त 2021 (75वें स्वतंत्रता दिवस) को 100 फीट लंबा भारतीय झंडा फहराया था"

 

क़िले तक शहर के दो किनारों से पहुंचा जा सकता है :

1. काठी दरवाज़ा गेट के ज़रिये, रैनावाड़ी के ज़रिये और 
2. हवाल के ज़रिये, संगिन दरवाजा गेट के ज़रिये....
(2007 में अवाम के लिए खोल दिया गया था, जबकि क़िला लगभग 20 सालों  के लिए बंद कर दिया गया था)

मुस्लिम तीर्थस्थल :


16वीं सदी के कश्मीरी सूफ़ी संत हैं,  जिन्हें हज़रत सुल्तान और सुल्तान-उल-अरीफीन के नाम से भी जानते हैं,
हरि परबत  मखदूम साहिब, हमज़ा मखदूम की दरगाह है (के साउथ पॉइंट में)
क़िले के नीचे एक मस्जिद है जिसे मुग़ल राजकुमारी जहाँआरा बेगम ने बनवाया था,
इस मस्जिद को 7वीं शताब्दी के क़ादिरी सूफी संत शाह बदख्शी को वक़्फ़ किया गया था 

हिंदू मंदिर :


हरि पर्वत को कुछ कश्मीरी पंडित पाक और पवित्र मानते हैं, हिंदू पौराणिक कथाओं को अगर माने तो उस पहाड़ी पर राक्षस जलोभव का क़ब्ज़ा था,
मदद के लिए हिंदुओं ने पार्वती जी (शिव की पत्नी) से प्रार्थना की थी,
पार्वती जी ने  एक पक्षी का रूप लेकर असुर के सिर पर एक छोटा पत्थर गिरा दिया, वो पत्थर ब तक बड़ा और बड़ा होता गया जब तक कि उसने राक्षस को कुचल नहीं दिया...हरि परबत उस कंकड़ के रूप में पूजनीय है
तब से इस पर्वत को जगदम्बा शारिका के नाम से पूजा जाता है और पार्वती को शारिका  के रूप में पूजा जाता है
(जहाँ शक्ति का मंदिर है उन्हें 18 भुजाओं वाली और श्री चक्र में विराजमान दिखाया है)

श्रीनगर शहर के सामने हरि पर्वत की ये पहाड़ी है डल झील से इसका नज़ारा शानदार है,
इस पहाड़ को शहर के किसी भी हिस्से से क्लियर देख सकते है 
हरि परबत भारत के तीन मुख्य धर्मों गढ़ है : वेस्ट पॉइंट पर प्रसिद्ध शक्ति मंदिर और साउथ पॉइंट पर मस्जिद हैं,आगे साउथ पॉइंट की बाहर वाली दीवार पर एक गुरुद्वारा है।
और सबसे ऊपर छोटी पर एक किला है जो आज भी  एक ताज जैसा दिखता है, और किलेबंदी अभी भी इम्प्रेसिव है
हरी परबत आज भी श्रीनगर का फोकस पॉइंट है.......
 
स्थान: नोहटा, श्रीनगर, जम्मू और कश्मीर

समय: सुबह 9:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक

हरि पर्वत कैसे पहुंचे:

हरी परबत से 15 किमी दूर श्रीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट नियरेस्ट है 
श्रीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट श्रीनगर के सभी शहरों और कस्बों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है
इंटरनेशनल एयरपोर्ट से आप प्राइवेट टैक्सी ले सकते है और अगर आप चाहे तो हरि पर्वत के लिए बस में  भी सवार हो सकते हैं
श्रीनगर से बय रोड भी यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है
 

Latest news

Powered by Tomorrow.io