दुध पथरी अगर आप नहीं गये है तो ये जानकारी है आपके काम की है ज़रूर पढ़े

उत्तर भारत में जहां एक ओर हाड़ कपा देने वाली ठंड पड़ती है । वहीं कश्मीर में लगातार गिरता पारा, घाटी को बर्फ़ की सफे़द चादर में लपेट लेता है। सर्दियों  में पड़ती बर्फ़बारी  टूरिस्टों के लिए नया डेस्टिनेशन बन जाती है और कश्मीर मानों टूरिस्टों से गुलज़ार हो जाता है,कुदरत के इस हसीन नज़ारों में गुम होने के लिए अपनी ही मौज में हर टूरिस्ट दिखाई देने लगता  है। जिस तरह से पूरा जम्मू कश्मीर ही टूरिस्टों की पहली पसन्द बना रहता है। उसी लिस्ट में एक नया नाम और सामने आया है। ये नाम है दुध पथरी का जैसा नाम वैसी ही इसकी पहचान।

दुध पथरी अगर आप नहीं गये है तो ये जानकारी है आपके काम की है ज़रूर पढ़े

बडगाम: जम्मू कश्मीर और इसकी खुबसुरती के क्या कहने है। जो भी यहां आता है वो घाटी के नज़ारों को देख अगर कुछ कह पाता है तो वो बात है जन्नत । जिस जन्नत के बारें में हमने केवल सुना है, उसे अगर सही मायनों में देखना है तो कश्मीर आइये, बडगाम में नया टूरिस्ट स्पोट दुध पथरी हालहिं में खुला है, हम आपको दुध पथरी की सुन्दरता को दिखायेंगे अपनी इस रिपोर्ट में।

पूरे उत्तर भारत में जहां एक ओर हाड़ कपा देने वाली ठंड पड़ती है । वहीं कश्मीर में लगातार गिरता पारा, घाटी को बर्फ की सफेद चादर में लपेट लेता है। सर्दियों  में पड़ती बर्फबारी  टूरिस्टों के लिए नया डेस्टिनेशन बन जाती है और कश्मीर मानों टूरिस्टों से गुलजार हो जाता है,कुदरत के इस हसीन नजारों में गुम होने के लिए अपनी ही मौज में हर टूरिस्ट दिखाई देने लगता  है। जिस तरह से पूरा जम्मू कश्मीर ही टूरिस्टों की पहली पसन्द बना रहता है। उसी लिस्ट में एक नया नाम और सामने आया है। ये नाम है दुध पथरी का जैसा नाम वैसी ही इसकी पहचान, श्रीनगर के हवाई अड्डे से 42 किलोमीटर दूर दुध पथरी यानि मिल्क वैली टूरिस्टों के लिए एक नया हब बन रहा है। डीसी बडगाम ने दूधपथरी के परहेज मेनदान में स्की शॉप फैसलिटी को शुरू किया हैऔर वो खुले दिल से लोगों का स्वागत करते हुये कहते है कि दूधपथरी में एटीवीस..स्नो बाइक.  होम स्टे, एथनिक फूड.. और अब स्नो स्कीइंग.. की फैसलिटी भी टूरिस्टों को मिलेगी । आने वाले समय में प्रशासन इस जगह पर टूरिस्टों को ध्यान में रखकर और भी कई सारी एक्टिविटिज कराने पर विचार कर रहा है। दुध पथरी में टूरिस्टों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुये कनेक्टिवीटी पर भी काम किया जा रहा है। पिछले साल 8 लाख टूरिस्ट यहां पर आये थे लेकिन इस बार रिकोर्ड संख्या में टूरिस्टो का आना तय है क्योंकि जो भी यहां पर आ रहा है।.प्रशासन को लेकर उसकी एप्रोच पोजटीव है।

 

दुधपथरी चीड़ के पेड़ों से घिरा एक शानदार घास का मैदान जिसके आर-पार कई सारे नाले बहते हैं । बडगाम जिले में दूधपथरी गर्मियों में पर्यटकों के लिए पहले से ही एक टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। टूरिस्ट डिपार्टमेन्ट ने हाल ही में इसे सर्दियों के लिए खोलने की घोषणा की थी। इससे पहले पहलगाम, सोनमर्ग और युसमर्ग को इसके लिए खोला गया था। दूधपथरी और यूसमर्ग दोनों ही टूरिस्ट पैलेस को डिपार्टमेन्ट ने बड़ी तेजी से डेवल्प किया है। दूधपथरी विकास प्राधिकरण की सीईओ डॉ. नरगिस सूरिया ने कहा कि रैयार गाँव से दूध पथरी के रास्ते पर सड़क से बर्फ को हटाना और टूरिस्टों के लिए रास्ते को बेहतर से बेहतरीन बनाने का काम डिपार्टमेन्ट कर रहा है। दूधपथरी में स्नों से रिलेएटिड कई तरह के खेलों का आयोजन भविष्य में कराने की योजना प्रशासन की है जिस पर वो लगातार काम कर रहा है.। जल्द ही स्नो फेस्टीवल का आयोजन भी दूध पथरी में किया जायेगा।  

 

दूध पथरी में आने वाले टूरिस्ट स्नों की स्कीइंग करते हुये अपनी सारी चिन्ताओं को भूल केवल एन्जाय करते हुये दिखाई देते है। इस टूरिस्ट डेस्टिनेशन पर आये हुये कपल्स का कहना है कि दूधपथरी उनके लिए बिल्कुल नयी जगह थी क्योंकि उन्होंने कश्मीर में घुमने वाली कई जगहों के बारे में सुना था, लेकिन दूध पथरी को लेकर उनके मन में शक था कि कैसी जगह होगी लेकिन यहां पर घुमने के बाद वो दूध पथरी की तारीफ करते नहीं थकते है और उनका मानना है कि अफवाहों पर ध्यान न देकर लोगों को कश्मीर जरूर आना चाहिए वहीं एक और टूरिस्ट का कहना है कि यहां का स्नों फॉल देखकर उन्हें केवल इतना कहने का मन कर रहा है यहां तो जन्नत है जितने भी टूरिस्ट दूध पथरी आये है उनका अनुभव बहुत लाजवाब रहा है।  

 

दूध पथरी टूरिस्ट डेस्टिनेशन बेशक से बिल्कुल नया है लेकिन यहां पर आने वाले हर टूरिस्ट का मन यहां पर लग जाता है, वो कैमरों में इन पलों को कैद कर अपने साथ ले जाना चाहते है और प्रशासन भी टूरिस्टों की हर सुविधा का ख्याल रख रहा है।

Latest news

Powered by Tomorrow.io