21 साल की मनु बेबो बनी श्रीनगर की पहली महिला ट्रांसजेन्डर

इस तस्वीर में दिखाई देने वाली ये खुबसुरत ख़ातून दिखने में आपकों ख़ातून जैसी लगेगी, लेकिन चलिए हम आपको मिलवाते है कश्मीर श्रीनगर की महिला ट्रांसजेन्डर मनु बेबो से मनु 21 साल की है और वो कश्मीर में एक मेकअप आरटिस्ट के तौर पर खासी मशहूर है, उन्हें मेकअप करने में उस्ताद माना जाता है और सबसे बड़ी बात है कि मेकअप करना उन्होंने किसी से सीखा नहीं बल्कि बचपन से उन्हें इसका शौक था, जो आज इनका रोजगार बन गया है। कश्मीर की शादीयों में कई परिवार उन्हें ख्वातीन का मेकअप करने के लिए बुक करते है ।

21 साल की मनु बेबो बनी श्रीनगर की पहली महिला ट्रांसजेन्डर

हम आपको कश्मीर की ऐसी शख्सियत के बारे में बताने जा रहे है, जिसे समाज ने कभी स्वीकार करने की हिम्मत नहीं दिखाई लेकिन तमाम संघर्षों और अपने आत्मविश्वास के दम पर उन्होंने कभी हार नहीं मानी। आज हम आपको एक कश्मीरी ट्रांसजेंडर मनु से रूबरू करवा रहे है।  मनु अमीन के मनु बेबो बनने के सफर को हम आपको बताने जा रहे है।

इस तस्वीर में दिखाई देने वाली ये खुबसुरत ख़ातून दिखने में आपकों ख़ातूव जैसी लगेगी, लेकिन चलिए हम आपको मिलवाते है कश्मीर श्रीनगर की ख़ातून ट्रांसजेन्डर मनु बेबो से मनु 21 साल की है और वो कश्मीर में एक मेकअप आरटिस्ट के तौर पर खासी मशहूर है, उन्हें मेकअप करने में उस्ताद माना जाता है और सबसे बड़ी बात है कि मेकअप करना उन्होंने किसी से सीखा नहीं बल्कि बचपन से उन्हें इसका शौक था, जो आज इनका रोजगार बन गया है। कश्मीर की शादीयों में कई परिवार उन्हें ख्वातीन का मेकअप करने के लिए बुक करते है । उनके पास रोजगार का यही एकमात्र साधन है और इस पेशे से वो अच्छी खासी कमाई भी कर लेती है ।  

कश्मीर में मेकअप करने के लिए लोग दूर दूर से इन्हें अपने यहां बुलाते भी है । पहले मनु अकेले ये काम करती थी लेकिन अब उनके पास पूरी टीम है जो मिलकर कश्मीर में काम कर रही है । मनु सोशल मीडिया पर काफी नाम कमा चुकी है, इस्टाग्रांम पर इनके कई विडियो है जिन्हें हज़ारों में लोग पसन्द करते है। लेकिन मनु बेबो का सफ़र इतना आसान नहीं था, समाज मनु जैसे ट्रासजेन्डरों को सम्मान की नज़रों से नहीं देखता है, मनु बताती है कि वो जब सातवीं में पढ़ती थी तब उन्हें लगा कि उनके अन्दर एक लड़का नहीं एक लड़की है और उन्होंने लड़कियों के कपड़े पहनने शुरू कर दिये, मैकअप करना शुरू कर दिया, स्कूल भी मेकअप करके जाना शुरू कर दिया जिसके लिए उनका काफी मज़ाक बनाया गया । उनका मानना है कि हम भी इंसान है और हमें भी सम्मान का उतना ही हक है जितना की आम आदमी को मिलता है। 

मनु का जन्म श्रीनगर शहर के नवाकदल में एक मीडिल क्लास परिवार में हुआ था। मनु परिवार की इकलौती संतान थी। इसलिए उनका ये सफ़र काफ़ी मुश्किलों भरा रहा । क्योंकि उन्हें अपने मां बाप से भी पहले उन्हें स्पोर्ट नहीं मिला लेकिन जब वो एक सफल मेकअप आर्टिस्ट बन गई तब उनके परिवार के लोग भी खुल कर स्पोर्ट करने लगे। ऐसे में उन्होंने ईश्वर पर विश्वास रखा और अपना काम करती चली गई। कुछ ही दिनों में मनु का काम लोगों को पसन्द आने लगा और अब मनु खुद तो पेशेवर मेकअप आरटिस्ट है लेकिन उन्होंने अपने जैसे कई और लोगों को रोजगार देने का काम किया है। मनु अपने जैसे कई लोगों के लिए उम्मीद है कि वो भी अपना काम करके मनु जैसे पैसा कमा सकते है। कश्मीर में आज उनकी बढ़ती लोकप्रियता के कारण आज वो किसी भी परिचय की मोहताज नहीं है । 

Latest news

Powered by Tomorrow.io